The Chitter Express

गुजरात चुनाव: पाटीदार, दलित और ओबीसी वोटर

गुजरात चुनाव अपने अहम मोड़ पर पहुंच चुका है। भाजपा का मुकाबला इस बार कांग्रेस के अलवा हार्दिक पटेल, जिग्नेश मेवाणी और अल्पेश ठाकुर से भी है।

ठंड में रखें सेहत का ख्याल

सर्द मौसम का आनंद लेने के लिए जरूरी है कि आप अपना और अपने परिवार का इस मौसम में खास ख्याल रखें। तभी गुनगुनी धूप आपको पूरे परिवार को मीठी लगेगी।

एनएसई को-लोकेशन घोटाला (Source: India Samvad)

एनएसई को-लोकेशन घोटाला

आईटी विभाग के अधिकारियों ने अनुमान से बताया है कि एनएसई हाई फ्रिक्वेंसी ट्रेड (एचएफटी) घोटाला करीब पचास हजार करोड़ (50,00,00,00,00,000) रुपए का हो सकता है।

गुजरात: भाजपा की चुनाव जीत नीति

“गुजरात विधानसभा की रणभेरी बज चुकी है। भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियों ने अपने योद्धाओं को मैदान में उतार दिया है। लड़ाई आर-पार की है।”

Baby Bottle Tooth Decay

Baby Bottle Tooth Decay

Baby bottle tooth decay can prove to be a nightmare for babies but it can also be easily avoided by being aware of what it is and how not to let it happen.

वीकेंड को बनाए मजेदार

वीकेंड को बनाए मजेदार

“पूरे हफ्ते भर की ऑफिस की टेंशन को बॉय-बॉय। इस वीकेंड को आप और मजेदार बनाना चाहते हैं तो इसमें चिटर एक्प्रेस के सुझाव आपके काम आ सकते हैं।”

Green is the new color for Nagpur: Sri Lanka - India second test match

Green is the new color for Nagpur

“Ahead of the second Sri Lanka – India test match, the Orange city sports a new color, ‘Green’. India will look to carry on from where they left in Eden a few days back. Will Lankans be up to it!”

हीरो से भगोड़े बने आईएएस अधिकारी

हीरो से भगोड़े बने आईएएस अधिकारी

“नौकरी चाहे सिविल सर्विसेज की ही क्यों न हो, अगर अधिकारी सत्ता से तालमेल नहीं बैठाते तो उनके लिए काम करना मुश्किल हो जाता है।“

Thrilling test match at Eden

A thrilling test match at Eden in Kolkata ended in an exhilarating draw. Kudos to both the teams and Indian bowlers for taking India to the brink of a win.

अंडा अंडा रे, तू काहे हुआ महंगा

अंडा रे अंडा, तू काहे हुआ महंगा

“पहले मुर्गी या अंडा! सवाल थोड़ा बदल देते हैं। अंडा खाए या मुर्गा। इन दिनों हर कोई इसी सोच में पड़ा है कि खाने में क्या बनाएं? ऐसा कुछ दिन और चला तो कहीं लोगों के मुंह से अंडे का स्वाद ही न चला जाए। “